संशोधित लक्ष्य के अनुसार पौधरोपण कार्य को शीर्ष प्राथमिकता प्रदान की जाय: माला श्रीवास्तव

नन्द्कुमार कश्यप ब्यूरो प्रमुखNewsman Only Truthदेवी पाटन मण्डल

बहराइच 07 अगस्त। तहसील महसी सभागार में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस के पश्चात जिला वृक्षारोपण समिति बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने सभी लक्षित विभागों को निर्देश दिया कि पौधरोपण शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता का कार्यक्रम है, इसलिए इस कार्य में किसी भी स्तर पर शिथिलता क्षम्य नहीं होगी। सभी लक्षित विभागों को निर्देश दिया गया कि प्रभागीय वनाधिकारी बहराइच से समन्वय कर पौध रोपण के लिए व्यवस्थाएं चाक-चैबन्द कर ली जायें। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया पौधरोपण कार्य जन आन्दोलन का रूप दिया जाय। पौधरोपण कार्य में समाज के सभी वर्गों विशेषकर छात्र-छात्राओं, कारपोरेट जगत, गैर सरकारी संगठनों, स्वैच्छिक संस्थाओं तथा जनप्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित की जाय। उन्होंने निर्देश दिया पौध रोपण के लिए आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों को अनिवार्य रूप से आमंत्रित किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि पौधरोपण जैसे कार्य को आज प्रत्येक स्तर पर प्रोत्साहित किया जाना आवश्यकता ही नहीं बल्कि मज़बूरी है। क्यांेकि वृक्षविहीन धरती पर मानव जीवन का अस्तित्व बच पाना न मुमकिन है। प्राकृतिक वन सम्पदा और हरे भरे बाग-बगीचे ही नाना प्रकार की पर्यावरणीय समस्या से निजात दिला सकते हैं। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण के लक्ष्य को पूर्ण करने के लिए समय से पौध की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्राइवेट पौधशालाओं का भी चिन्हाॅकन कर लिया जाय।बैठक के दौरान वृक्षारोपण के लिए आवंटित लक्ष्य की जानकारी प्रदान करते हुए प्रभागीय वनाधिकारी बहराइच आर.पी. सिंह ने बताया कि जनपद के लिए पूर्व आवंटित लक्ष्य 1491108 के अनुसार पौधरोपण के लिए वन विभाग द्वारा 800650, ग्राम्य विकास विभाग 243519, राजस्व विभाग व पंचायती राज विभाग 140937-140937, आवास विकास, कृषि व पुलिस विभाग को 5680-5680, औद्योगिक विभाग 7654, नगर विकास 11360, लोक निर्माण विभाग 12357, सिंचाई विभाग 14320, रेशम विभाग 3654, पशुपालन व विद्युत विभाग 6320-6320, सहकारिता 2880, उद्योग 6480, शिक्षा विभाग (माध्यमिक शिक्षा) 6013, बेसिक शिक्षा 6507, प्रावधिक शिक्षा 5147, उच्च शिक्षा 7653, श्रम विभाग 2013, स्वास्थ्य विभाग 8987, परिवहन विभाग 1680, रेलवे विभाग 6987, रक्षा विभाग 5360 तथा उद्यान विभाग को 26333 पौध आवंटन का लक्ष्य आवंटित किया गया था।डीएफओ श्री सिंह ने बताया कि शासन की ओर से 04 अगस्त 2018 को जारी आदेश के अनुसार पूर्व में आवंटित लक्ष्य के अतिरिक्त वन विभाग को 11375, ग्राम्य विकास विभाग को 263500, नगर विकास विभाग व उद्यान विभाग को 10540-10540, कृषि विभाग को 21080, माध्यमिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा, प्राविधिक शिक्षा व उच्च शिक्षा विभाग के लिए 3970-3970 कुल 332915 का लक्ष्य आवंटित कर दिये जाने से जनपद के लिए कुल आवंटित लक्ष्य 1824023 हो गया है। उन्हांेने बताया कि जनपद में 45 गुणा 44 सेन्टीमीटर का गड्ढा पौध रोपण के लिए उपयुक्त है। पौधों की कोई कमी नहीं है। पर्याप्त संख्या में जनपद के नर्सरियों में पौधे उपलब्ध है। विभागों को जो लक्ष्य निर्धारित किए गये हैं। उसके सापेक्ष पौध रोपण कार्य में किसी भी प्रकार समस्या आये तो विभाग से सम्पर्क किया जा सकता है। श्री सिंह ने अधिकारियों से अपील की कि निर्धारित लक्ष्य के अनुसार शतप्रतिशत पौधरोपण कराते हुए बहराइच को हरा भरा बनाने में भरपूर सहयोग प्रदान करें।इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक सभाराज, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी तेज प्रताप सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. ए.के. पाण्डेय, उप जिलाधिकारी राजेश कुमार श्रीवास्तव, पुलिस क्षेत्राधिकारी सिद्धार्थ तोमर, जिला विकास अधिकारी वीरेन्द्र सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए अनिल कुमार सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. बलवन्त सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी के.बी. वर्मा, जिला कृषि अधिकारी राम शिष्ट, नोडल अधिकारी स.न.ख. ए.के. सिंह, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी विजय कुमार मिश्रा, जिला समाज कल्याण अधिकारी श्रीमती लवी मिश्रा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एस.के. तिवारी, जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी अशोक कुमार गौतम सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Share This:

Leave a Comment