ईशांत शर्मा ने कहा मैच जीतने के लिए खेलता हूं

भारत और इंग्लैंड के बीच 5 मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच 9 अगस्त से ऐतिहासिक लॉर्ड्स के मैदान पर खेला जाना है। ये वही मैदान है जहां भारत ने साल 2014 में शानदार जीत दर्ज की थी और भारत की जीत के हीरो रहे थे तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा। ईशांत ने अपनी कहर बरपाती गेंदों से इंग्लैंड के बल्लेबाजों के पसीने छुड़ा दिए थे और अब वो फिर से अपना दमखम दिखाने के लिए तैयार हैं। ईशांत ने दूसरे टेस्ट से पहले साफ किया है कि अब उनका लक्ष्य सिर्फ मैच जिताने का होता है और वो सिर्फ टीम को जिताने के लिए खेलते हैं। ईशांत शर्मा ने अपने बयान में कहा, ‘मेरा मकसद अब पूरी तरह से बदल चुका है। अब मेरा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ भारतीय टीम को मैच जिताना है। मैं कहीं भी खेलूं, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया या दुनिया के किसी भी मैदान में खेलूं लेकिन मेरा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ टीम को जिताने का होता है।’ ईशांत ने ये भी कहा कि उन्होंने पिछले कुछ सालों में ज्यादा कुछ अलग नहीं किया। मैंने इस दौरान अपनी लाइन-लेंथ सुधारी है और इससे मेरा विश्वास बढ़ा है। मैं लगातार अच्छी लाइन पर गेंदबाजी कर रहा हूं और यही मेरी अच्छी गेंदबाजी का राज है। ईशांत ने कहा, ‘मेरा मानना है कि हमें बल्लेबाजों के धैर्य का इम्तिहान लेना चाहिए। जब मैंने आखिरी बार लॉर्ड्स में खेला था तो 7 विकेट लिए थे और इस लिहाज से मेरी इस मैदान के साथ अच्छी यादें जुड़ी हैं। लेकिन बतौर खिलाड़ी आपको आने वाली चुनौतियों के बारे में सोचना चाहिए।’ईशांत ने ये भी कहा कि फिलहाल भारतीय टीम में तेज गेंदबाजों में जबरदस्त प्रतिस्पर्धा है। हर गेंदबाज अच्छा कर रहा है और ये टीम इंडिया के लिए अच्छा है। टीम इंडिया में अगर कोई तेज गेंदबाज अच्छा नहीं करता तो फौरन उसकी जगह लेने के लिए दूसरा गेंदबाज तैयार है। ऐसे में टीम में जगह बनाने का एक ही तरीका है कि आर अच्छा करोगे तो टीम में बने रहोगे और अगर अच्छा नहीं करोगे तो टीम से बाहर हो जाओगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *