चिली ने पास किया कानून : अब 14 साल के बच्चे कानूनी तौर पर करवा सकते है अपना नाम और सेक्स चेंज |

सैंटियागो – सुत्रो के अनुसार , बुधवार को चिली ने एक कानून पास किया है और इस कानून के तहत यहां पर 14 साल के बच्चों को अपना सेक्स चेंज कराने और अपना नाम बदलने की कानूनी मंजूरी मिल गई है। चिली के चैंबर्स ऑफ डिप्टीज की ओर से बुधवार को जेंडर आईडेंटिटी लॉ को 95-46 वोट्स से पास कर दिया। इस कानून के तहत 18 वर्ष के युवाओं को मंजूरी मिल गई है कि वह अपना नाम बदल सकते हैं और साथ ही अपना सेक्स भी कानूनी तौर पर चेंज करा सकते हैं। वहीं 14 साल के बच्चों को सेक्स और नाम बदलवाने के लिए अपने माता-पिता या फिर अभिभावक की जरूरत होगी। चिली की सीनेट ने इस बिल को पिछले महीने पास किया था। बुधवार को जो वोटिंग हुई है उसके लिए इस रूढ़िवादी देश में पांच वर्ष की तक लड़ाई लड़ी गई थी। चिली साउथ अमेरिक का एक ऐसा देश है जिसे काफी पुराने विचारो वाला माना जाता है। इस बिल पर काफी विवाद भी हुआ और कई बार यह पास होते-होते भी रह गया , लेकिन इस बार जब इस मुद्दे को पूर्व राष्ट्रपति मिशेल बैशलेट के कार्यकाल में लाया गया तो इसे मंजूरी मिली। विली के मूवमेंट फॉर होमोसेक्सुअल इंटीग्रेशन एंड लिबरेशन के मुखिया अल्वारो ट्रोनकोसो की मानें तो देश के लोग एक एतिहासिक बदलाव को देख रहे हैं| जिसका जश्न भावनाओं और खुशी के साथ मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बिल की वजह से हजारों लोगों के जीवन में सुधार आएगा जिन्हें सम्मान और अधिकारों से कई वर्षों तक वंचित रखा गया था। चिली के सामाजिक कार्यकर्ताओं के मुताबिक लोगों के उनके लिंग की वजह से मान्यता देने से इनकार करना भेदभाव का सबसे भयानक रूप है और इसकी वजह से कई तरह की सामाजिक, मनोविज्ञानी और कानूनी परेशानियां होती है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *