रवि शास्त्री सीरीज़ हारने के बाद भी क्रिकेट फैंस को बना रहे है बेवक़ूफ़ |

लन्दन- सूत्रों के अनुसार, बुधवार को मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा था कि पिछले 15 साल में विदेशी दौरों पर जाने वाली यह सर्वश्रेष्ठ भारतीय टीम है। हालांकि, तथ्य इसे साबित नहीं करते। आगर हम सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, अनिल कुंबले और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम इंडिया के आंकड़ों को देखें तो शास्त्री का ये बयान सही नहीं लगता। जानकारी के मुताबिक, आंकड़े देखें तो सौरव गांगुली की अगुआई में भारत ने इंग्लैंड (2002) और ऑस्ट्रेलिया (2003-04) में सीरीज ड्रॉ करवाईं और वेस्टइंडीज में टीम टेस्ट मैच और पाकिस्तान में सीरीज जीतने में सफल रही। इसके बाद राहुल द्रविड़ के नेतृत्व में भारत ने वेस्टइंडीज में 2006 और इंग्लैंड में 2007 में सीरीज जीती। टीम दक्षिण अफ्रीका में भी एक टेस्ट जीतने में सफल रही। देखा जाये तो वहीं अनिल कुंबले की अगुआई में भारत ने पर्थ के उछाल भरे विकेट पर पहली बार टेस्ट जीता, जबकि महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारत ने न्यूजीलैंड में सीरीज जीती और पहली बार दक्षिण अफ्रीका में सीरीज ड्रॉ कराने में सफल रही। हालांकि, धोनी की टीम ने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में लगातार दो सीरीज 0-4, 0-4 से हारी थीं। विराट की कप्तानी में दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में लगातार दो सीरीज गंवाने के बाद विदेशी दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीम का मिथक टूट गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *