ट्रामा सेंटर में डॉक्टरों ने बैठना खाली होने पर बच्चे को भर्ती से किया इंकार , एंबुलेंस में हुई मौत

लखनऊ- सूत्रों के अनुसार, ट्रामा सेंटर में बैठना खाली होने की बात कहकर डॉक्टरों ने गंभीर रुप से बीमार बच्ची को भर्ती करने से साफ इंकार कर दिया। गोरखपुर से ऑक्सीजन लगा कर लाई गई बच्ची को एंबुलेंस के भीतर ही सांसे थम गई। बच्ची को दिमागी बुखार की आशंका में इलाज के लिए लाया गया था। रोते बिलखते परिजनों ने मुख्यमंत्री से शिकायत करने की बात कही है। जानकारी के अनुसार गोरखपुर निवासी 4 साल की सुरभि को बीते कई दिनों से बुखार था। पिता विश्वजीत ने स्थानीय डॉक्टरों से इलाज कराया, लेकिन इसके बावजूद कोई भी फायदा नहीं हुआ। गुरुवार रात सुरभि की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। डॉक्टरों ने दिमागी बुखार की आशंका जताई। ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। पिता बेटी की जान बचाने के लिए सुबह 8 बजे ट्रामा सेंटर पहुंचे। पीडियाट्रिक विभाग के डॉक्टरों ने बेड खाली ना होने की बात कही। केजुएल्टी के डॉक्टरों ने भी परिजनों को बेड खाली ना होने की बात कह दी। परिजनों ने डॉक्टरों के सामने हाथ जोड़कर मिन्नते की। उस समय अधिकारी राहुल ले रहे थे। कर्मचारी के मुताबिक अधिकारी कह देंगे तो बन सकता है।

Share This:

Leave a Comment